ChhattisgarhKorba

न्यू कोरबा अस्पताल का तीसरा फ्लोर किया गया सील, ग्यारह डाॅक्टरों सहित 50 से अधिक मेडिकल स्टाफ होम होंगे क्वारेंटाइन

Third floor seal of New Korba Hospital, more than 50 medical staff including eleven doctors will be quarantine home

कोरोना संक्रमित मरीज के ईलाज का मामला, एंडोस्कोपी और सोनोग्राफी सेंटर भी सील किए गए
कोरबा 05 अगस्त 2020/उरगा के समीप देवलापाट निवासी साठ वर्षीय कोरोना पाॅजिटिव मरीज के कोसाबाड़ी स्थित न्यू कोरबा अस्पताल में भर्ती होने की पुष्टि पर कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल के निर्देश पर अस्पताल का तीसरा फ्लोर सेनेटाइज कर सील कर दिया गया है। आज सुबह रायपुर के रामकृष्ण अस्पताल में भर्ती कोरबा के साठ वर्षीय व्यक्ति की कोरोना जांच रिपोर्ट पाॅजिटिव आई थी। व्यक्ति की सम्पर्क हिस्ट्री खंगालने पर पहले ईलाज के उसके न्यू कोरबा अस्पताल में भर्ती होने की जानकारी मिली थी। जानकारी मिलते ही कलेक्टर श्रीमती कौशल ने व्यक्ति के सम्पर्क में आए सभी लोगो को पहचान कर उन्हें होम क्वारेंटाइन मंे रखने और अस्पताल तथा जांच केन्द्रो को सेनेटाइज कर सील करने के निर्देश एसडीएम सुनील नायक को दिए थे। कार्रवाई के दौरान नायब तहसीलदार पंचराम सलामे, डाॅ. पुष्पेश कुमार सहित राजस्व एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर मौजूद रही। कोरोना संक्रमित व्यक्ति बीमार होने पर 26 से 31 जुलाई तक न्यू कोरबा अस्पताल में ईलाज के लिए भर्ती था। इस दौरान 31 जुलाई को तबियत गंभीर होने पर उसे डाॅक्टरों द्वारा बेहतर ईलाज के लिए रायपुर के रामकृष्ण केयर अस्पताल रिफर किया गया था। जहां ईलाज के दौरान 2 अगस्त को मरीज का कोरोना टेस्ट के लिए सैम्पल लिया गया था और तीन जुलाई को उसकी रिपोर्ट पाॅजिटिव मिली थी।
एसडीएम सुनील नायक ने बताया कि पहले ईलाज के लिए न्यू कोरबा अस्पताल में भर्ती मरीज की जांच रिपोर्ट उसके रायपुर रिफर होने के बाद मिली है। न्यू कोरबा अस्पताल में वह तीसरी मंजिल पर अलग कमरे में ईलाज के लिए भर्ती था। उन्होने बताया कि अस्पताल के डाॅक्टरों से इस बारे में पूरी जानकारी ली गई है। डाॅक्टरों ने बताया है कि मरीज को एंडोस्कोपी के लिए डाॅक्टर अरूण श्रीवास्तव के सर्जिकल नर्सिंग होम एवं नेत्र ज्योति केन्द्र निहारिका भी ले जाया गया था। इसके साथ ही उसे सोनोग्राफी के लिए विजय सोनोग्राफी एवं डायग्नोस्टिक सेंटर निहारिका भी भेजा गया था। न्यू कोरबा अस्पताल के डाॅक्टरों से मिली जानकारी के बाद एसडीएम ने अस्पताल के तीसरे माले से सभी मरीजो को अन्य वार्डो में शिफ्ट कराकर पूरी मंजिल को सेनेटाइज कराने के बाद बंद कर दिया है। इसके साथ ही निहारिका स्थित सर्जिकल नर्सिंग होम एवं नेत्र ज्योति केन्द्र और विजय सोनोग्राफी एवं डायग्नोस्टिक सेंटर को भी सेनेटाइज करने के बाद सील कर दिया गया है।
11 डाॅक्टरों सहित 50 से अधिक मेडिकल स्टाफ रहेंगे होम क्वारेंटाइन में, सभी की होगी जांच- न्यू कोरबा अस्पताल में कोरोना पाॅजिटिव मरीज की भर्ती की पुष्टि के बाद प्रशासन ने अस्पताल और डायग्नोस्टिक सेंटरों के पचास से अधिक मेडिकल स्टाफ को चिन्हांकित कर होम क्वारेंटाइन में भेज दिया है। मरीज के सीधे सम्पर्क में आए अस्पताल के नौ डाॅक्टरों और दोनो डायग्नोस्टिक सेंटरों के डाॅक्टरों को भी होम क्वारेंटाइन में रहने को कहा गया है। एनकेएच अस्पताल के 11 नर्साे, दस वार्ड ब्वाॅय, छह हाउस कीपिंग स्टाफ, चार एमरजेंसी स्टाफ, चार सीटी स्केन विभाग के कर्मचारी, चार लैब टेक्निशियन और एक ड्राइवर को सीधे संक्रमित मरीज के सम्पर्क में आने वालों में चिन्हांकित किया गया है। इसके साथ ही विजय सोनोग्राफी एवं डायग्नोस्टिक सेंटर के तीन पैरामेडिकल स्टाफ और सर्जिकल नर्सिंग होम एवं नेत्र ज्योति केन्द्र के तीन कर्मचारियों को भी सीधे सम्पर्क में आने वालो के रूप मंे पहचाना गया है। सभी को होम क्वारेंटाइन में रहने के निर्देश मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय से जारी कर दिए गए है। कोरोना संक्रमित मरीज के सीधे सम्पर्क में आने वाले सभी डाॅक्टरों और पैरामेडिकल स्टाफ की कोरोना जांच कराई जाएगी।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close