ChhattisgarhRaipur

ISBT रायपुर : छत्तीसगढ़ का पहला हाईटेक अंतरराज्यीय बस स्टैंड बनकर तैयार, 23 अगस्त को होगा लोकार्पण

लोकार्पण के एक माह बाद ही ISBT में बसों की आवाजाही हो पाएगी शुरू

रायपुर: Interstate Bus Terminal Raipur: छत्तीसगढ़ के पहले हाईटेक अंतरराज्यीय बस स्टैंड (Interstate Bus Terminal) का लोकार्पण 23 अगस्त होगा। लेकिन यहां बसों की आवाजाही एक माह बाद ही शुरू हो पाएगी, क्योंकि पंडरी बस स्टैंड की शिफ्टिंग करने की प्रक्रिया अभी तक शुरू नहीं गई है। हालांकि निगम ने 16 ऑपरेटरों को दुकानों का आवंटन कर दिया है।

बस ऑपरेटरों ने भी लोकार्पण की तारीख तय होने के बाद अब अपने सामान आईएसबीटी में शिफ्ट करने की तैयारी करने लगे हैं। हालांकि ऑपरेटरों ने 15 दिन का समय मांगा है। लेकिन आईएसटीबी परिसर में बसों के संचालन के लिए सुविधाएं जुटाने में निगम को कम से कम एक माह का समय लग जाएगा।

 

परिसर में पेट्रोल-डीजल का पंप भी नहीं खोला गया है। फिलहाल निगम प्रशासन इस अंतर राज्यीय बस स्टैंड के लोकार्पण करने का निर्णय लिया है। इसके बाद पंडरी बस स्टैंड को शिफ्ट करने की कवायद शुरू की जाएगी। फिलहाल आईएसबीटी परिसर में सामाजिक तत्वों द्वारा किए गए तोड़फोड़ 7r को मरम्मत करने का काम चल रहा है। इसके अलावा बरसात में जलभराव की समस्या की भी दूर की जा रही है।

शहर का ट्रैफिक दबाव होगा कम

आईएसबीटी शुरू होने शहर में चलने वाली सिटी बसों के साथ ही प्राइवेट बसों का संचालन भी आइएसबीटी से किया जाएगा। इससे दीगर शहरों से आने वाले यात्रियों को शहर में अपने गंतव्य स्थल तक पहुंचने में सिटी बस या आटो आसानी से मिल जाएंगे। अंतरराज्यीय बस स्टैंड बनने के बाद दूसरों राज्यों और शहरों से चलने वाली लंबी दूरी की बसों को शहर के अंदर एंट्री नहीं दी जाएगी। इससे शहर की सडक़ों पर से हर दिन 500 से अधिक बसों का दबाव कम होगा। बसें कम होने से ट्रैफिक जाम की समस्या भी काफी हद तक दूर हो जाएगी।

यहां की बसें आएंगी आईएसबीटी में

बिलासपुर, बलौदाबाजार, ओडिशा, अंबिकापुर, कवर्धा और राजनांदगांव की ओर से आने वाली बसें रिंग रोड से सीधे इस बस स्टैंड पर पहुंचेंगी। रायपुर से आगे जगदलपुर या गरियाबंद की ओर जाने वाली बसें रिंग रोड से होकर शहर के आउटर से ही इन शहरों के लिए रवाना होंगी।

इन शर्तों पर ऑपरेटरों को दुकानें आवंटित

भाठागांव स्थित नए अंतरराज्यीय बस स्टैंड में ऑपरेटरों को भूतल में 16 दुकानें आंवटित की गई है। इसका उपयोग दफ्तर और बुकिंग काउंटर के लिए करने के निर्देश दिए गए है। किसी भी तरह का अन्य कमर्शियल उपयोग करने पर आवंटन निरस्त करने की चेतावनी दी गई है। बताया जाता है कि बस स्टैण्ड शुरू होने के संकेत मिलने के बाद बस मालिकों ने अपना सामान समेटना शुरू कर दिया है।

सभी को दी गई सूचना 

यातायात महासंघ के प्रदेश अध्यक्ष अनवर अली ने बताया कि पुराने बस स्टैण्ड स्थित दफ्तर को जल्दी ही खाली कर नए टर्मिनल में शिफ्ट होंगे। यहीं से बसों का संचालन किया जाएगा। इसके लिए सभी ऑपरेटर तैयार है। पंडरी बस स्टैंड से किसी भी तरह की गतिविधियां संचालित नहीं की जाएगी। सभी को सूचित कर दी गई है।

बुकिंग एजेंटों का विरोध

वहीं नए बस स्टैंड परिसर से बुकिंग एजेंटों को बाहर करने की मांग यातायात महासंघ द्वारा की गई है। संगठन के पदाधिकारियों ने टिकट काउंटर के लिए अलग से जगह देने का विरोध किया है। इसकी अवहेलना करने पर प्रर्दशन करने की चेतावनी दी गई है।

मरम्मत में ही 15 लाख रुपए खर्च

पिछले दो साल से वीरान पड़े आईएसबीटी असामाजिक तत्वों का अड्डा बन चुका था। शाम ढलते ही असामाजिक तत्वों का जमावड़ा शुरू हो जाता था। फिर वहां लगे खिड़की-दरवाजे,लाइट आदि को तोडफ़ोड़ करते थे। इस तरह से पूरा परिसर की लाइट और खिड़की-दरवाजों की नए सिरे से मरम्मत कराई जा रही है। जिसमें निगम को करीब 15 लाख रुपए तक खर्च करना पड़ रहा है। इसके अलावा बरसात में होने वाले जलभराव को दूर करने के लिए पानी निकासी की व्यवस्था की जा रही है।

नगर निगम रायपुर के महापौर एजाज ढेबर ने कहा, आईएसबीटी का लोकार्पण की तैयारी शुरू कर दी गई है। लोकार्पण के एक माह बाद ही बसों की आवाजाही शुरू हो पाएगी। क्योंकि पंडरी बस स्टैंड को शिफ्ट करना है और वहां के ऑपरेटरों को भी आईएसबीटी में दुकानों का आवंटन किया जाना है। इसके अलावा बाकी दुकानों की नालामी भी करनी है। इस एक माह में सभी चीजों को ठीक कर ली जाएगी।

Related Articles

Back to top button
Close
Close