Chhattisgarh

गोधन न्याय योजना: 2 हजार 757 संग्राहको के खाते में आए गोबर बिक्री के आठ लाख रूपए

Godan Nyaya Yojana: Eight thousand rupees of dung sale in 2 thousand 757 collectors account

//समाचार//
जिले में एक अगस्त तक खरीदे गए चार लाख किलो से अधिक गोबर का हुआ भुगतान
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रायपुर से सीधे एक क्लिक कर खातों मे ट्रांसफर की राशि
कोरबा 05 अगस्त 2020/मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज कोरबा जिले के 2 हजार 757 गौ-संग्राहको के बैंक खातों में गोबर बिक्री के आठ लाख एक हजार से अधिक रूपए ट्रांसफर कर दिए। गौधन न्याय योजना के तहत  बघेल ने आज रायपुर से कम्प्युटर पर एक क्लिक कर प्रदेश के सभी गोबर संग्राहको को एक अगस्त तक खरीदे गए गोबर की राशि का भुगतान किया। कोरबा जिले में 20 जुलाई से 01 अगस्त तक 2 हजार 757 गोबर संग्राहको से चार लाख 656 किलो गोबर की खरीदी की गई है। 01 अगस्त तक खरीदे गए गोबर की राशि आठ लाख एक हजार 313 रूपए आज संग्राहको के खाते में हस्तांतरित हो गई है। जिले के पांच विकासखण्डो में एक अगस्त तक तीन लाख छह हजार 157 किलो गोबर की खरीदी हुई थी।जिसके लिए छह लाख 12 हजार 314 रूपए की राशि संग्राहको के खातो में जमा कराई गई है। इसी प्रकार पांच नगरीय निकाय क्षेत्रो में एक अगस्त तक गोबर संग्राहको ने 94 हजार 500 किलो गोबर गोठान समितियों को बेचा है। इस बेचे गए गोबर की कीमत एक लाख 88 हजार 999 रूपए संग्राहको के खाते में आज सीधे जमा हो गई है।
जिला पंचायत से प्राप्त जानकारी के अनुसार गोधन न्याय योजना के तहत खरीदे गए गोबर की राशि संग्राहको के बैेक खातों मे सीधे जमा की गई है। गोबर खरीदी की राशि का किसी भी संग्राहक को नगद भुगतान नही किया गया है। गोबर खरीदी की सबसे अधिक राशि 2 लाख 57 हजार 136 रूपए पाली विकासखण्ड के संग्राहको को मिली है। पाली विकासखण्ड में एक अगस्त तक 54 गोठान समितियों के माध्यम से एक लाख 28 हजार 568 किलो गोबर खरीदा गया हैै। नगरीय क्षेत्र में गोबर खरीदी का सर्वाधिक पैसा कोरबा नगर निगम क्षेत्र के गोबर संग्राहको के खाते में आया है। कोरबा नगर निगम क्षेत्र में गोकुल नगर गोठान के माध्यम से एक अगस्त तक 84 हजार 333 किलो गोबर खरीदा गया है, जिसकी राशि एक लाख 68 हजार 666 रूपए संग्राहको के खाते में सीधे जमा हो गई है। एक अगस्त तक पोड़ीउपरोड़ा विकासखण्ड में 51 गोठानो के माध्यम से 58 हजार 258 किलो गोबर की खरीदी हुई है और उसका एक लाख 16 हजार 516 रूपए भुगतान संग्राहको को आज मिल गया है। इसी तरह कटघोरा विकासखण्ड में एक अगस्त तक 22 गोठान समितियों ने 56 हजार 136 किलो गोबर की खरीदी की है। जिसके लिए संग्राहको के खाते में एक लाख 12 हजार 272 रूपए जमा हुए हैं। कोरबा विकासखण्ड में 47 हजार 099 किलो गोबर बेचने पर 94 हजार 158 रूपए, करतला विकासखण्ड में 16 हजार 053 किलो गोबर बेचने पर 32 हजार 106 रूपए का भुगतान संग्राहको को आज कर दिया गया है। नगरीय क्षेत्रों मे दीपका नगर पालिका क्षेत्र के गोबर संग्राहको को 4 हजार 404 किलो गोबर बेचने के ऐवज में 8 हजार 809 रूपए, नगर पंचायत पाली क्षेत्र में 2 हजार 691 किलो गोबर बेचने पर 5 हजार 382 रूपए, नगर पंचायत छुरीकला क्षेत्र में 2 हजार 245 किलो गोबर बेचने पर संग्राहको को 4 हजार 490 रूपए और नगर पंचायत कटघोरा क्षेत्र में 826 किलो गोबर संग्राहको से खरीदने पर उन्हें एक हजार 652 रूपए का भुगतान आज मिल गया है।
गौरतलब है कि जिले में गोधन न्याय योजना के तहत दो रूपए प्रति किलो की दर से लगभग दो सौ गोठानो में गोबर की खरीदी हर दिन की जा रही है। पूरे प्रदेश सहित जिले मे 20 जुलाई को हरेली त्यौहार पर इस योजना की शुरूआत हुई है। जिले में अभी प्रतिदिन औसतन दस हजार किलो गोबर की खरीदी की जा रही है। गोठान में खरीदे गए गोबर को सुरक्षित रखा जा रहा है। गोबर को पंद्रह दिन बाद वर्मी कम्पोस्ट टांके में डालकर जैविक खाद बनाया जाएगा। गोबर संग्राहको का पंजीयन तेजी से किया जा रहा है। योजना के पहले दिन ही जिले में पांच हजार किलो से अधिक गोबर की खरीदी की गई थी। जिले की दो सौ गोठानो में हर दिन गोबर खरीदी की जा रही है। गोबर संग्राहको द्वारा बेचे गए गोबर का पूरा हिसाब भी रखा जा रहा है। बेचे गए गोबर के हिसाब के लिए सभी गौ-संग्राहको को गोबर खरीदी कार्ड दिए गए है। कार्डो में हर दिन खरीदे गए गोबर की मात्रा और राशि की इंट्री कर गोबर संग्राहको तथा गोठान प्रभारी के हस्ताक्षर भी लिए जा रहे है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close