Chhattisgarh

लैब की संख्या कम होने से समय पर जांच न होने के कारण कोरोना के बढ़ते संक्रमण से घबराई प्रदेश की सरकार-नेता प्रतिपक्ष धरमलाल :कौशिक

कोरोना के बढ़ते संक्रमण से घबराई प्रदेश सरकार:कौशिक
नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा,कोरोना की नहीं हो रही है जांच
रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने प्रदेश में कोरोना के बढ़ते जा रहे संक्रमण पर चिंता व्यक्त करते कहा कि राज्य में कोरोना संक्रमण के फैलाव के चलते प्रदेश सरकार पूरी तरह से घबराई हुई है, और यह नहीं सूझ रहा है कि कोरोना पर अंकुश लगाने के लिए किस तरह के कदम उठाया जाए।इस समय प्रदेश में संदेही लोगों की जांच के लिये सैम्पल भी नहीं लिये जा रहे हैं।जिसके चलते परिस्थितियां और चिंताजनक बनती जा रही है।लैब की सख्या कम होने से समय पर जांच भी नहीं हो पा रहा है।जिससे अनिश्चिति का वातावरण बना हुआ है। जिसे लेकर भी प्रदेश सरकार पर लगातार सवाल उठ रहा है। उन्होंने कहा कि समय पर जांच नहीं होने संक्रमण के फैलाव का खतरा और बढ़ता जायेगा। इसके लिये जिम्मेदार कौन होगा। कोरोना मुक्ति अभियान को लेकर प्रदेश सरकार पूरी तरह से नाकाम है। इधर प्रदेश के अन्य तीन स्थानों पर जो लैब शुरू किए जाने थे अब तक उसकी शुरुआत तक नहीं हुई है। इसकी वजह से भी जिलों में जांच प्रभावित हो रहा है।उन्होंने कहा कि प्रदेश में प्रतिदिन दस हजार नमूने के जांच का लक्ष्य था, लेकिन पांच हजार के आसपास भी जांच नहीं किये जा रहे थे। ऐसे में कोरोना को लेकर वास्तविक स्थिति का पता नहीं चल पा रहा है। उन्होंने कहा कि संक्रमित व्यक्तियों के परिवार के लोगों की भी जांच नहीं हो रही है। वहीं आम जनमानस को भी बेहतर सुविधा देने में प्रदेश की सरकार नाकाम है। कोराना के उपचार के लिये गैर सरकारी अस्पतालों की संख्या भी सीमित है। सरकारी अस्पतालों में बेहतर सुविधा के अभाव में संक्रमण का खतरा बढ़ता ही जा रहा है।नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए जब कई महीने पहले से तैयारी की जा रही है तो उस समय स्वास्थ्य अमला की भर्ती क्यों नहीं की गई।अभी जब स्थिति चिंताजनक होती जा रही है तब स्वास्थ्य अमला के भर्ती की जा रही है।इस फैसले ने प्रदेश सरकार के कामकाज पर सवाल उठता है।उन्होंने कहा कि इस विषम परिस्थिति में हम सब के साथ हैं और प्रदेश सरकार को चाहिए कि बेहतर फैसले लेकर कोरोना के विरूद्ध जारी युद्ध में अहम कदम उठाना चाहिये। ताकि कोरोना पर पूर्णता अंकुश लगाया जा सके। उन्होंने कहा कि संक्रमित मरीजों के लिये पर्याप्त एम्बुलेंस की सुविधा भी नहीं है। साथ ही संक्रमित व्यक्तियों के परिवार के अन्य सदस्यों की भी कोरोना जांच नहीं की जा रही है। जिससे संक्रमण का खतरा और बढ़ा सकता है। नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए जरूरी सावधानियाँ का पालन करें। हमारे समाने सावधानी ही एक अस्त्र है।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close