India

छत्तीसगढ़ पुनः बना स्वच्छता में सिरमौर, स्वच्छ सर्वेक्षण में मारी बाज़ी,20 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे पुरस्कृत

Chhattisgarh rebuilt Sirmaur in cleanliness, won the clean survey, Prime Minister Narendra Modi will award on August 20

मुख्यमंत्री बघेल ने प्रदेशवासियों और कर्मवीर सफ़ाई कर्मचारियों को दी बधाई

रायपुर. 14 अगस्त 2020. भारत सरकार के आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय द्वारा आयोजित विश्व की सबसे बड़ी स्वच्छता प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ ने एक बार फिर बाज़ी मार ली है। भारत सरकार द्वारा प्रतिवर्ष देश के सभी शहरों एवं राज्यों के मध्य आयोजित स्वच्छ सर्वेक्षण में शहरी स्वच्छता का विभिन्न पैमानों पर आँकलन किया जाता है। इसमें मुख्य रूप से घर-घर से कचरा एकत्रीकरण, कचरे का वैज्ञानिक रीति से निपटान, खुले में शौच मुक्त शहर तथा कचरा मुक्त शहर स्टार रेटिंग का थर्ड पार्टी के माध्यम से आँकलन करते हुए एवं नागरिकों के फ़ीड्बैक को समाहित कर राज्यों एवं शहरों की रैंकिंग जारी कर, उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले राज्यों तथा शहरों को पुरस्कृत किया जाता है।भारत सरकार द्वारा सूचित किया गया है कि इस वर्ष छत्तीसगढ़ ने पुनः स्वच्छता के क्षेत्र में अपना परचम लहराते हुए देश के स्वच्छ्तम राज्य के अपने दर्जे को बरकरार रखते हुए सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। 20 अगस्त, 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा छत्तीसगढ़ को पुरस्कृत किया जाएगा।

छत्तीसगढ़ को न सिर्फ़ राज्य के रूप में, अपितु यहाँ के 14 शहरों जिनमें अंबिकापुर, धमतरी, जशपुर नगर, पाटन, भिलाई, बीरगाँव, भिलाई-चरौदा, चिरमिरी, कवर्धा, चांपा, पिपरिया, अकलतरा, नरहरपुर एवं सारागाँव को भी 20 अगस्त को भी इनके उत्कृष्ट प्रदर्शन हेतु पुरस्कृत किया जाएगा।ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ देश का ऐसा एक मात्र प्रदेश है जहां पर नरवा, गरूवा, घुरवा एवं बाड़ी के सिद्धांतों के अनुरूप 9000 से अधिक स्वच्छता दीदियों द्वारा घर-घर से 1600 टन गीला एवं सूखा कचरा एकत्रीकरण करते हुए वैज्ञानिक रीति से कचरे का निपटान किया जाता है। इसके अतिरिक्त, भारत सरकार दारा छत्तीसगढ़ को देश का प्रथम ओडीएफ़ प्लस प्लस राज्य निरूपित किया गया है।इस महत्वपूर्ण उपलब्धि हेतु मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेशवासियों को बधाई देते हुए इस सफलता का श्रेय प्रदेश की जागरूक जनता तथा यहाँ के कर्मवीर सफ़ाई कर्मचारियों तथा अधिकारियों के परिश्रम को दिया है।नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग के मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने इस सफलता हेतु राज्य की जनता द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना करते हुए, स्वच्छता से जुड़े सभी अधिकारियों तथा कर्मचारियों को बधाई देते हुए आगे भी छत्तीसगढ़ को इसी प्रकार स्वच्छता में सिरमौर बनाए रखने का संकल्प लेने का आह्वान किया है।

 

Related Articles

Back to top button
Close
Close