BilaspurChhattisgarh

सेना का सफल ऑपरेशन,बचाई एक जान,देखें खूटा घाट बांध का खतरनाक वीडियो

Army's successful operation, saved one life, watch dangerous video

बिलासपुर के डैम में फंसे जितेंद्र कुमार कश्यप, उम्र 34 वर्ष
को एयरलिफ्ट कर सुरक्षित निकाला गया….MI-17 हेलीकॉप्टर से इलाज के लिए रायपुर के RKCH लाया गया….पुलिस और एयरफोर्स का संयुक्त सफल ऑपरेशन….बिलासपुर– रविवार की शाम खूंटाघाट वेस्ट वियर में छलांग लगाने के बाद तेज बहाव के बीच फंसे युवक को सोमवार की सुबह सेना के हेलीकॉप्टर की मदद से बचा लिया गया है। प्रशासन की पहल पर सोमवार सूरज निकलते ही हेलीकॉप्टर खूंटाघाट पहुंचा, और करीब 14 घंटे से फंसे युवक को बचा लिया गया, इस बीच खूंटाघाट डेम लोगों की तालियों और जय हिन्द, जय छत्तीसगढ़ के नारों से गूंज उठा।
रतनपुर के खूंटाघाट के वेस्टवियर के तेज बहाव में रविवार से बीते 14 घण्टे से फंसे युवक को आज सेना के हेलीकाप्टर की मदद से आज सुबह सकुशल बाहर निकाल लिया गया। पिछले लगभग बीस घंटों से तेज बहाव के बीच एक पत्थर और एक झाड़ी को सहारा बनाए युवक की जिंदादिली ही थी, जो कल से तेज थपेड़ों को झेलते हुए अपनी हिम्मत को बनाए रखा।
रतनपुर खूंटाघाट का वेस्टवियर इन दिनों अपने पूरे उफान पर है और आस पास ही क्या दूर दूर से लोग यहां ये नजारा देखने पहुंच रहे हैं। ये युवक भी कल यहां अपने दोस्तों के साथ आया था, और नहाने के लिए इस उफनते पानी में कुद गया फिर क्या था इतने तेज बहाव वाले पानी में वो फंस गया और ऐसा फंसा की बाहर नहीं आ पाया। उसकी किस्मत तेज थी जो वो बहते हुए एक बड़े पत्थर की आड़ में आ गया तथा वहीं पास ही एक पेड़ की डालियां उसका सहारा बन गई जिसके सहारे उसने कल शाम से पूरी रात गुजारी।
एक युवक के वेस्टवियर में फंसे होने की जानकारी मिलते ही प्रशासन यहां पहुंच गया था लेकिन तमाम कोशिशों के बाद भी तेज बहाव से युवक को बाहर निकालने में असमर्थ था। प्रशासन ने अंधेरा होते देख ये अच्छा काम किया था, कि वहां रोशनी का इंतजाम कर दिया था। रात के अंधेरे में बहाव और तेज तथा डरावना हो गया था और सभी सुबह होने का इंतजार करने लगे कि कब उजाला हो। इस बीच और कोई उपाय होते ना देख रायपुर से हेलीकाप्टर को बुलाया गया यही एक रास्ता था। जिससे युवक को बाहर निकाला जा सकता था। अब से कुछ देर पहले ही हेलीकाप्टर खूंटाघाट के वेस्टवियर के उपर पहुंचा, लेकिन हेलीकाप्टर के पंख की गति और पानी के तेज बहाव में रिस्क और ज्यादा हो गया था। हेलीकाप्टर से रस्सी की सीढ़ियां नीचे लटकाई गई और लगभग बीस घंटों से पेड़ की डाली पकड़े युवक ने रस्सी पकड़ ली, और उसके बाद सकुशल युवक को हेलीकाप्टर में खींच लिया गया, और हेलीकाप्टर रायपुर के लिए उड़ान भर लिया।

Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close