Chhattisgarh

एसईसीएल प्रशासन के द्वारा नगर पालिक निगम चिरमिरी एवं पुलिस प्रशासन की सयुक्त टीम बनाकर डोमन हिल बाजार में एक बड़ी कार्यवाही

जमीन पर कैसे कब्जा किया जाए, इस पर गैर कर्मियों और पूर्व कर्मियों का ध्यान

दुर्गा केशरवानी* चिरमिरी(कोरिया) कोयला खनन और अन्य कामकाज के उद्देश्य से एसईसीएल की ओेर से ली गई जमीन के काफी हिस्से अब खाली है या रोड के समीप मे कुछ जगह रिक्त है । चिरीमिरी क्षेत्र में ऐसी जमीन पर कई लोगों की नजरें टिकी है। यहां अवैध निर्माण जोरों पर है। ऐसे कुछ मामलों में खबर मिलने के बाद कामकाज रूकवाया गया। यहां तक की पुलिस से भी लिखित शिकायत करायी गई। कोल इंडिया के लगभग सभी कंपनियों में हाल एक जैसा है। कालोनी के आवासों से लेकर कंपनी की जमीन पर कैसे कब्जा किया जाए, इस पर गैर कर्मियों और पूर्व कर्मियों का ध्यान है। चाहकर भी अधिकांश मामलों में अपेक्षित कार्रवाई नहीं हो पा रही है। कोरिया जिले के चिरमिरी की एसईसीएल की कुछ खदानें बंद हो गई है। कर्मियों को अन्य परियोजनाओं में शिफ्ट किया गया है। छहःदशक पहले यहां खनन प्रारंभ हुआ।वर्तमान में यहां की काफी जमीन उपयोग में नहीं है, ऐसा दावा है। इस स्थिति का लाभ अतिक्रमणकर्ता ले रहे है। चिरीमिरी के विभागीय अतिथि गृह (जेट होस्टल ) के पीछे की जमीन पर अवैध निर्माण बड़े स्तर पर कर लिया गया। अन्य मामलों में भी यही प्रक्रिया अपनाई गई। एसईसीएल को लीज आधार पर यह भूमि दी गई। अब जबकि जमीन की उपयोगिता समाप्त हो गई है, इसका फायदा अन्य लोग ले रहे है और अवैध निर्माण करने पर उतारू है। जानकारी के मुताबिक जेट होस्टल से लेकर कई क्षेत्रों में इस तरह का काम धड़ल्ले से किया जा रहा है। इससे कंपनी को चपत लग रही है और उसे जवाब देते नहीं बन रहा है।चिरमिरी क्षेत्र के अंतर्गत डोमनहिल टैक्सी स्टैंड मे नव निर्मित अतिक्रमण के मामले में विगत कुछ दिन पूर्व11 दुकानों को तोड़ने गई एसईसीएल प्रशासन विरोध के बाद सिर्फ तीन दुकानें ही तोड़ पाई थी जिससे क्षेत्र की राजनीति में सरगर्मी बढ़ गई| भाजपा का गंभीर आरोप स्थानीय विधायक पर लगा कि उन्होंने अपने समर्थकों की दुकान को संरक्षण प्रदान कर सिर्फ तीन दुकानों को एसईसीएल प्रशासन पर दबाव बनाकर अतिक्रमण को हटवाया गया। जबकि कांग्रेस ने इस आरोप को बेबुनियाद बताते हुए कहा कि उन्होंने सभी दुकानों को बचाने का प्रशासन पर दबाव बनाया था लेकिन उससे पहले एसईसीएल प्रशासन ने तीन दुकानों को तोड़ दिया| भाजपा इस सफाई को महज राजनीतिक रूप से मानते हुए एसईसीएल के खिलाफ हल्ला बोल दिया, बात केंद्रीय मंत्रियों तक पहुंच गई एसईसीएल प्रबंधन पर आरोप यह भी लगा कि वह मंत्रियों का फोन नहीं उठा रहे हैं तब जाकर भाजपाइयों ने पूर्व विधायक सहित क्षेत्रीय मुख्यालय चिरमिरी का घेराव किया, आश्वासन के बाद धरना हटाया गया था।

चिरमिरी जी.एम. घनश्याम सिंह ने यह कहते हुए आश्वासन दिया कि अभी कोरोना काल के कारण लॉकडाउन है, १० अगस्त तक की अवधि का वादा मीडिया कर्मी के सामने प्रस्तुत किया जैसे ही लॉक डाउन खुला प्रबंधन ने कार्यवाही कर डाली और बची हुई समस्त दुकानों को अतिक्रमण मुक्त लिया गया |

आज सुबह प्रातः 7:00 बजे एसईसीएल प्रशासन के द्वारा नगर पालिक निगम चिरमिरी एवं पुलिस प्रशासन की सयुक्त टीम बनाकर डोमन हिल बाजार में एक बड़ी कार्यवाही अतिक्रमण हटाने की की गई ज्ञात हो कि पूर्व में एसईसीएल प्रशासन द्वारा डोमन हिल बाजार में 11 लोगों को अतिक्रमण हटाने हेतु नोटिस किया गया था जिसमें तीन लोगों की दुकानें ही एसईसीएल प्रशासन द्वारा तोड़ी गई जिससे लोगों में असंतोष जाहिर हो रहा था भारतीय जनता पार्टी ने एसईसीएल चिरमिरी क्षेत्रीय मुख्यालय पर धरना देकर एसईसीएल प्रशासन को यह बात अवगत कराया कि भाजपा समर्थकों की दुकानें ही तोड़ी गई है अतः आज एसईसीएल प्रशासन ने इस बात को गंभीरता से लेते हुए पुनः समस्त अतिक्रमण कर नव निर्मित दुकानों पर आज अतिक्रमण की कार्यवाही करते हुए उन्हें अतिक्रमण मुक्त कर दिया गया | इस तोड़फोड़ के क्रम में केंद्रीय विद्यालय के समीप ही सोनामनी निवासी शान सानू द्वारा एसईसीएल के जमीन पर अतिक्रमण कर कुछ जगहपर फार्मिंग किया गया था जिसमें साग- सब्जी लगाया था सब्जियों की खेती की गई थी उस अतिक्रमण भूमि को भी एसईसीएल प्रशासन द्वारा बुलडोजर चलाकर अतिक्रमण मुक्त कर लिया गया ।

असल मे क्या था माजरा ……

लगभग एक माह पहले कुछ लोगो ने डोमनहिल के जेट होस्टल के पास एसईसीएल की लीज की जमीन पर अवैध रूप से कब्जा कर दुकान बनाना शुरू किया । देखते ही देखते वहां पर अवैध कब्जा कर 13 दुकानें बनने लगी । एसईसीएल प्रबंधन उन सभी 13 दुकानों को नोटिस दिया लेकिन केवल तीन दुकानों पर कार्यवाही करते हुए उसे बुलडोजर से गिरा दिया । भाजपा नेताओं का आरोप है कि एसईसीएल ने कांग्रेस के बड़े नेताओं के इशारों पर केवल भाजपा कार्यकर्ताओं की दुकानों पर कार्यवाही करते हुए उसे गिरा दिया जबकि कांग्रेस कार्यकताओं की दुकानों पर कोई कार्यवाही नही की । भाजपा चिरिमिरी मंडल ने पूर्व में सभी अवैध कब्जे की दुकानों पर कार्यवाही करने के लिए एसईसीएल को 30 जुलाई तक का अल्टीमेटम दिया था लेकिन जब एसईसीएल ने 30 जुलाई तक कोई कार्यवाही नही की तो भाजपा ने आज एसईसीएल कार्यालय का घेराव व धरना प्रदर्शन किया इसी का परिणाम रहा कि आज सुबह बची हुई सारी दुकानें गिरा दी गई।

Related Articles

Back to top button
Close
Close