Chhattisgarh

भाजपा नेता आशीष तांडी के बड़े भाई हरीश तांडी पर प्राणघातक हमला।

उत्कल समाज ने सौंपा एस पी को ज्ञापन।अज्ञात हमलावरों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही करने की मांग।

रायपुर, छत्तीसगढ़, दिनांक 8 अगस्त 2020। रायपुर, वार्ड नम्बर 02 पंडित जवाहरलाल नेहरू वार्ड से भाजपा पार्षद प्रत्याशी छाया पार्षद व उत्कल समाज के युवा नेता आशीष तांडी ने कहा मेरे बड़े भाई हरीश तांडी चार पहिया वाहनों के मैकेनिक है जिनका राजेंद्र नगर में मोटर गैरेज है। घटना दिनांक 5 अगस्त 2020 को सँध्या 6 बजे राजेन्द्र नगर हाईवे रोड के पास की है। मेरा भाई हरीश तांडी लॉक डाउन के दौरान बंद गैरेज को देखकर वापस अपने सहयोगी नितेश दीप (मैकेनिक) के साथ पैदल आ रहे थे। तभी कुछ अज्ञात बदमाशों ने मोटरसाइकिल में आकर मेरे भाई बिना कुछ बात किए हरीश तांडी पर ताबड़तोड़ चाकू बाजी करते हुए प्राणघातक हमला करना चालू कर दिए जिसे देखकर नितेश दीप डर के मारे भागा जिसपर भी हमलावारों ने पत्थर फेककर मारा जिससे नितेश दीप के सिर पर गहरा चोट आया है। मेरा भाई हरीश तांडी चिल्लाता रहा कि हम लोग मैकेनिक है हमारा क्या गलती है ? हमें छोड़ दो पर हमलावार कुछ नहीं सुने और फिल्मी स्टाइल से ताबड़तोड़ हमला कर भाग गए। उक्त हमले से बुरी तरह घायल होकर मेरा भाई हरीश तांडी वही खून से लथपथ गंभीर अवस्था में गिर गया ।आज दिनांक तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई जिसको लेकर उत्कल समाज का एक प्रतिनिधि मंडल दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही करने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रायपुर को एक ज्ञापन सौपें है।इस दौरान मीडिया से चर्चा करते हुए सामाजिक नेता व अधिवक्ता भगवानू नायक ने कहा उत्कल समाज के युवा भाई हरीश तांडी एक कामकाजी व्यक्ति है उसके साथ राजधानी में लॉक डाउन के दौरान इस प्रकार प्राणघातक हमला हो गया जिससे उसकी जान जा सकती थी। यह घटना राजधानी के पुलिस विभाग की कार्यप्रणाली पर बहुत सारे सवाल खड़ा कर देती है।नायक ने कहा लॉक डाउन के दौरान यह दावा किया जाता है कि आम जनता की सुरक्षा के लिए चप्पे चप्पे पर पुलिस है पर मेरे भाई पर हमला हुआ तब पुलिस कहाँ थी ? राजधानी में बदमाश खुले आम चाकू लेकर घूम रहे है चौक चौराहों में पुलिस कैसे जाँच कर रही है ? आखिर बदमाशों को चाकू कौन उपलब्ध कराता है ? रोड चलते निर्दोष व्यक्ति पर हमला करने का हौसला बदमाशों को कैसे आ रहा है ?युवा नेता बंटी निहाल ने कहा एक निर्दोष व्यक्ति जिसका किसी से कोई दुश्मनी नहीं है बावजूद उसके उस पर हमला किया गया है। इससे साफ जाहिर होता है कि राजधानी में बदमाशों का पुलिस से कोई डर नहीं बेखौफ है।प्रतिनिधि मडल ने एस पी साहू को बताया कि निर्दोष हरीश तांडी को दिन दहाड़े चाक़ू से हमला कर दिया और उसको बचाने के लिए कोई नहीं आया । हरीश तांडी आज अस्पताल में गंभीर अवस्था में भर्ती है यदि उसके जान को कोई नुकसान होता है तो उसकी जिम्मेदारी कौन लेगा ? जबकि घटना स्थल से आधा किलोमीटर की दूरी पर राजेन्द्र नगर थाना है । लॉक डाउन के दौरान बदमाशों का खुलेआम चाकूबाजी करना यह बताता है कि राजधानी में गुंडा राज आ गया है जो रोड चलते फिल्मी स्टाइल से किसी भी व्यक्ति का जान लेने को तैयार।

Related Articles

Back to top button
Close
Close