AutomobileBilaspurChhattisgarhEntertainmentGadgetsGaurella pendra marwahiIndiaRaipurUncategorizedWorld

हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन की बूस्टर डोज 10 जनवरी से : पीएम मोदी

नीतेश वर्मा

ब्यूरो हेड

पीएम मोदी ने कहा कि सरकार ने निर्णय लिया है कि हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन की एहतियातन डोज देना 10 जनवरी से शुरू किया जाएगा

 

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज राष्ट्र को संबोधित करते हुए 15 साल से 18 साल की आयु के बच्चों का कोविड टीकाकरण करने की घोषणा की. पीएम मोदी ने कहा कि 15 साल से 18 साल की आयु के बीच के जो बच्चे हैं, अब उनके लिए देश में वैक्सीनेशन प्रारंभ होगा. 2022 में, 3 जनवरी को, सोमवार के दिन से इसकी शुरुआत की जाएगी. उन्होंने कहा कि हम सबका अनुभव है कि जो कॉरोना वॉरियर्स हैं, हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स हैं, इस लड़ाई में देश को सुरक्षित रखने में उनका बहुत बड़ा योगदान है. वो आज भी कोरोना के मरीजों की सेवा में अपना बहुत समय बिताते हैं. इसलिए प्रिकॉशन की दृष्टि से सरकार ने निर्णय लिया है कि हेल्थकेयर और फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन की Precaution Dose भी प्रारंभ की जाएगी. इसकी शुरुआत 2022 में, 10 जनवरी, सोमवार के दिन से की जाएगी.

पीएम मोदी ने कहा कि  दुनिया के कई देशों में कोरोना के कई वेरिएंट हैं. संक्रमण बढ़ रहा है. भारत में भी कई लोगों के संक्रमण हुए हैं. आप सतर्क रहें और हाथों को थोड़ी-थोड़ी देर में धोना भूलना नहीं है. वायरस म्यूटेड हो रहा है तो हमारी चुनौतियों का सामना करने की ताकत भी बढ़ रही है. कोरोना वैश्विक महामारी से लड़ाई में अब तक का अनुभव यही बताता है कि वैयक्तिक नियमों का पालन इससे बचाव का बहुत बड़ा हथियार है.

पीएम मोदी ने कहा कि भारत में भी कई लोगों के ओमीक्रॉन से संक्रमित होने का पता चला है. मैं आप सभी से आग्रह करूंगा कि पेनिक नहीं करें सावधान और सतर्क रहें. मास्क और हाथों को थोड़ी-थोड़ी देर पर धुलना, इन बातों को याद रखें.

 

पीएम ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी से लड़ाई का अब तक का अनुभव यही बताता है कि व्यक्तिगत स्तर पर सभी दिशानिर्देशों का पालन, कोरोना से मुकाबले का बहुत बड़ा हथियार है. और दूसरा हथियार है वैक्सीनेशन. भारत ने इस साल 16 जनवरी से अपने नागरिकों को वैक्सीन देना शुरू कर दिया था. ये देश के सभी नागरिकों का सामूहिक प्रयास और सामूहिक इच्छाशक्ति है कि आज भारत 141 करोड़ वैक्सीन डोज के अभूतपूर्व और बहुत मुश्किल लक्ष्य को पार कर चुका है.

Related Articles

Back to top button
Close
Close