AutomobileChhattisgarhEntertainmentGadgetsIndiaWorld

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी: ब्रज में जन्मे कृष्ण कन्हाई… घर-घर गूंजी बधाई, देश भर में धूमधाम से मनाई गई कृष्णजन्माष्टमी

जगह जगह विभिन्न कार्यक्रमों का किया गया आयोजन

नीतेश वर्मा

ब्यूरो हेड

सोमवार रात 12 बजते मथुरा के श्रीकृष्ण जन्मस्थान पर घंटे-घड़ियाल, ढोल-नगाड़े, झांझ-मजीरे और मृदंग बज उठे। शंख की आवाज के साथ मंगल ध्वनि गूंजने लगीं। हरि बोल के जयकारों के साथ ही कृष्ण भक्त नाच उठे। संपूर्ण मंदिर परिसर अजन्मे के जन्म के उत्साह में सराबोर हो गया। तिथि अष्टमी भाद्रपद, जन्मे कृष्ण मुरारी, प्रगटे आधी रात को सोये पहरेदार.. के पद की गूंज सुनाई देने लगी। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर हजारों भक्त इन पलों में ठाकुरजी के दर्शन कर भावविभोर हो गए।

श्रीकृष्ण जन्मस्थान के भागवत भवन में श्रीराधाकृष्ण की प्रतिमा के समक्ष केशर आदि सुगंधित द्रव्यों में लिपटे भगवान कृष्ण के विग्रह मोर्छलासन में विराजमान होकर अभिषेक स्थल पहुंचे। रजत कमलपुष्प में विराजित कान्हा का महाअभिषेक सवा मन दूध, दही, घी, बूरा, शहद और दिव्य औषधियों से तैयार पंचामृत से किया गया। इस दौरान आसमान से पुष्पों की कृत्रिम बरसात होने लगी। महाभिषेक के बाद कन्हैया की शृंगार आरती की गई। श्रीकृष्ण के जन्म के इस अलौकिक दर्शन का यह दौर रात 1:30 बजे तक यूं ही चलता रहा।

केवल यहीं नही अपितु पूरे देश मे सभी सनातन धर्मियों ने अपने अपने घरों में , श्री कृष्ण के बाल गोपाल रूप की पूजा अर्चना की, सुबह से ही लोगो ने उपवास रखा , जगह जगह सड़को पर मटकी फोड़ जैसे कार्यक्रमों का आयोजन किया गया , यही नही लोगो ने अपने छोटे छोटे बच्चो को श्री कृष्ण एवम राधा के रूप में तैयार कर कृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार धूमधाम से मनाया।

बेबी त्रिशा
बेबी भाव्या
बेबी आकर्षिका
बेबी खुशी
बेबी अनिका
बेबी त्रिशा

न्यूज़ नेशनल परिवार की ओर से समस्त देशवासियों को कृष्ण जन्माष्टमी की ढेर सारी शुभकामनाएं 

Related Articles

Back to top button
Close
Close