India

मानवता बनी मिसाल जब सरकार हो गई असहाय तब पूरे देश मे उम्मीद बनी,चालीस हजार से ऊपर लोगो को मदद पहुचाई मानवता,लाखो योद्धा दिन रात कर रहे मेहनत

मानवता बनी मिसाल जब सरकार हो गई असहाय तब पूरे देश मे उम्मीद बनी,चालीस हजार से ऊपर लोगो को मदद पहुचाई मानवता,लाखो योद्धा दिन रात कर रहे मेहनत

एक छोटे से शहर से बड़ी सोच के साथ चालू हुआ मानवता कब छत्तीसगढ़ से मध्यप्रदेश से उत्तरप्रदेश से दिल्ली महाराष्ट्र राजस्थान कर्नाटक बिहार होता हुआ पूरे देश मे फैल गया पता ही नही चला । राजनीतिक पार्टियों की तरह इसमें जुड़ने के लिए कोई प्रचार नही करना पड़ा ।
मानवता से प्रभावित होकर आम इंसान से लेकर ब्यरोकेट्स मजिस्ट्रेट नेता अभिनेता व्यपारी जॉब मीडिया वाले बूढ़े जवान युवा सब जुड़ते चले गए ।देखते देखते पूरे देश मे मानवता की गूंज सुनाई देने लगी
मानवता की शुरुवात का उद्देश्य इस देश की केंद्र राज्य सरकार इस महामारी में अपने घुटने टेक दिए है तो क्यो न मानव श्रृंखला बनाई जाए जो मानवता के लिए कार्य करे ।जिसका उद्देश्य सिर्फ और मानव कल्याण हो ।
छत्तीसगढ़ के छोटे शहर बिलासपुर से कुछ लोगो को जोड़कर इसकी शुरुवात की मानवता के मेम्बर की निष्ठा लगन ततपरता ने इतिहास रच दिया । दस लोगो से शुरू हुआ ये संगठन दस दिन में लाखों सदशयो के साथ करोड़ो लोगो तक पहुच गया ।
मानवता काम कैसे करता है- मानवता के सदश्य वो गुमनाम चेहरे है जो आपके आसपास वाले होते जो इस महामारी के दौर में रोते बिलखते तड़पते लोगो के लिए कुछ करना चाहते थे मानवता ने उन सब भारतीयों को वो प्लेटफार्म दे दिया जिससे वो अपनो के लिए कुछ कर पाए
हर जिले के मेम्बर की अलग अलग जिम्मेदारी होती है
कुछ हॉस्पिटल में बेड वेंटिलेटर की जानकारी लगातार लेते रहते तो कुछ जरूरतमंद को उनकी।प्राथमिकता के आधार पर बेड दिलाते है ।कुछ ऑक्सीजन देने संस्था से जरूरतमंद तक ऑक्सीजन पहुचाते है । अगर मध्यप्रदेश के पास दिल्ली का केस आया तो वो दिल्ली वाले मेम्बर को जानकारी देकर उनकी मदद करता है ।
मानवता का कोई लेखा जोखा नही होता दिन में एवरेज चार हजार काल आ जाते है । बीस हजार से ऊपर लोगो को मदद पहुचाइए जा चुकी है ।
मानवता सोती नही जागती रहती है ।
मानवता के प्रति जो आस्था विश्वास निष्ठा लोगो के मन मे वही मानवता की कमाई है । प्रिंस वर्मा अभिषेक ठाकुर, बिनोय राय,ऋषभ नायडू,सोमू श्रीवास्तव कैलाश हर्षवर्धन केशव राठौड़ डॉ मनीष यादव मनोज सोनी शंकर अधिजा मोहम्मद नाफ़िज़ देवेश तिवारी समीर शुक्ला राजा पांडेय बाबा पांडेय अनुष्का मजूमदार ,सुजाता सिसोदिया ,सुनीता पाठक,अवनीत कौर,डॉ विभाषा ,स्वर्णा गौरहा जैसे लाखो लोग दिन रात मानवता के लिए सेवा दे रहे है । न्यूज़ नेशनल मानवता टीम के इस विपदा की घड़ी में अदम्य साहस को सैल्युट करता है ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close