Chhattisgarh

डगमगाती स्वास्थ्य व्यवस्था: टारगेट पूरा दिखाने के लिए 1 ही दिन में केवल 7 घन्टों में कर डाली सैकड़ों महिलाओं की नसबंदी

सरगुजा जिले के मैनपाट विकास खंड के नर्मदापुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 100 से अधिक महिला हितग्राहियों की नसबंदी की गई.ऑपरेशन के बाद महिलाओं को अस्पताल के फर्श पर ही लेटा दिया गया.

सरगुजा: छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य व्यवस्था की स्थिति डगमाती नजर आ रही है. सरगुजा जिले के मैनपाट में एक बार फिर टारगेट पूरा करने के लिए एक ही दिन में सैकड़ों महिलाओं की नसबंदी कर दी गई. जहां स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइन के अनुसार 1 दिन में केवल 30 महिलाओं की ही नसबंदी की जा सकती है. वहीं मैनपाट विकास खंड के नर्मदापुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 100 से अधिक महिला हितग्राहियों की नसबंदी की गई, हैरान कर देने वाली बात यह है कि इतनी महिलाओं की नसबंदी केवल 7 घंटे में की गई.

इस दौरान अव्यवस्थाओं का आलम भी देखने को मिला. ऑपरेशन के बाद महिलाओं को अस्पताल के फर्श पर ही लेटा दिया गया

बता दें कि परिवार कल्याण योजना के तहत नसबंदी करवाने वाले महिलाओं को 1200 रुपए और पुरषों को 2200 की राशि दी जाती है. साथ ही जो इन हितग्राहियों को प्रेरित कर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तक लाते हैं, उन्हें इसके एवज प्रति महिला 200 रुपए और प्रति पुरूष 300 रुपए दिए जाते हैं.इसी बात का फायदा उठाकर इतने लोगों को स्वास्थ्य केंद्रों तक लाया गया.

मेडिकल अफसर ने मानी गलती

इधर इस मामले को लेकर ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर से पूछा गया तो उन्होंने भी इस बात को स्वीकार किया और कहा- गलती तो हुई है. ऐसा नहीं होना चाहिए था, मितानिनों के द्वारा जबरदस्ती इतनी महिलाओं को यहां लाया गया और ऐसी नौबत आई है.लेकिन आगे से ऐसा कभी नहीं किया जाएगा

Related Articles

Back to top button
Close
Close