BilaspurChhattisgarh

ट्रेन डिरेल:बिलासपुर स्थित रेल्वे कोचिंग डिपो के यार्ड में डीजल इंजन पटरी से उतरा, रेलवे ने दिए जांच के आदेश, पहले हुए दो हादसों की जांच अब तक अधूरी

ट्रेन डिरेल:बिलासपुर स्थित रेल्वे कोचिंग डिपो के यार्ड में डीजल इंजन पटरी से उतरा, रेलवे ने दिए जांच के आदेश, पहले हुए दो हादसों की जांच अब तक अधूरी

बिलासपुर : बिलासपुर स्थित रेलवे कोचिंग डिपो में बुधवार देर रात फिर एक शंटिंग इंजन के चार चक्के पटरी से उतर गए। घटना के बाद रेलवे अधिकारी व कर्मचारी मौके पर पहुंचे। करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद पहिए को पटरी पर चढ़ा लिया गया। रेलवे को किसी तरह क्षति नहीं हुई। जांच के आदेश जारी कर दिए है। 1 महीने के अंदर ये तीसरी घटना है। इससे पहले दो और रेल हादसे हो चुके है लेकिन किसी की जांच रिपोर्ट अब तक नहीं आई है।

SECR में एक के बाद एक रेल हादसे हो रहे है। 10 दिन पहले ही तारबाहर-सिरगिट्टी रेल फाटक के पास एक ट्रेन का इंजन लोको शेड से निकल कर इंजन खंभों और सिग्नल को तोड़ता हुआ सड़क पर उतर गया था। इस हादसे के दौरान ट्रेन का इंजन करीब 100 मीटर तक सड़क पर घिसटता रहा। हालांकि दुर्घटना में किसी नागरिक की मौत नही हुई थी लेकिन रेलवे को करोड़ों का नुकसान झेलना पड़ा था। मामले में केवल शंटर पर निलंबन कार्रवाई की गई थी और जांच के आदेश जारी कर दिए गए थे।

एक महीने पहले मालगाड़ी के 16 डब्बे पटरी से उतर गए थे

एक महीने पहले 9 जुलाई को निगौरा से वेंकटनगर के बीच ट्रैक फ्रेक्चर की वजह से कोयले से भरे मालगाड़ी के 16 वैगन पटरी से उतरने से रेलवे को करोड़ों का नुकसान हुआ था। मामले की गंभीरता को देखते हुए उस समय रेलवे बोर्ड ने CRS को जांच की जिम्मेदारी दी थी । CRS ने बिलासपुर पहुंचने के बाद घटना की जांच और अधिकारियों से चर्चा भी की ,लेकिन अबतक इसकी रिपोर्ट जोन और डिवीजन को नही सौंपी।

हादसे में कोई ट्रेन प्रभावित नही, ले रहे है एक्शन

बुधवार को हुई घटना को लेकर रेलवे के सीनियर DCM पुलकित सिंघल ने बताया कि यार्ड में कोचिंग डिपो के पास इंजन के पटरी से उतरने की घटना हुई थी। इस हादसे में किसी तरह का नुकसान नही हुआ है लेकिन मामले में डिपार्टमेंट स्टाफ के खिलाफ एक्शन लिया जा रहा है।

Related Articles

Back to top button
Close
Close