AutomobileBilaspurChhattisgarhEntertainmentGadgetsGaurella pendra marwahiIndiaRaipurUncategorizedWorld

छत्तीसगढ़ में सस्ता हुआ पेट्रोल-डीजल:कैबिनेट की बैठक में फैसला, VAT में 1 और 2 प्रतिशत की कमी की गई, 1 हजार करोड़ रुपए का घाटा सहेगी सरकार

नीतेश वर्मा

ब्यूरो हेड

 

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में छत्तीसगढ़ कैबिनेट की बैठक शुरू हो चुकी है। इस बैठक में कई रियायतों का प्रस्ताव था। सबसे अहम प्रस्ताव पेट्रोल-डीजल के दामों में कटौति का था इसे स्वीकार कर लिया गया। सरकार ने कहा कि वह VAT में 1 और 2 प्रतिशत की कमी की घोषणा करती है। पेट्रोल पर 1 फीसदी वैट कम किया गया है और डीजल में 2 फीसदी वैट कम किया गया है। इससे राज्य के खजाने पर 1 हजार करोड़ रुपए का अतिरिक्त भार पड़ेगा।

बताया जा रहा है कि वाणिज्यिक कर विभाग ने पेट्रोल-डीजल पर VAT कटौती का प्रस्ताव दिया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर यह प्रस्ताव सभी पड़ोसी राज्यों में VAT की दर और पेट्रोल-डीजल की कीमतों के अध्ययन के आधार पर तैयार किया गया है। प्रदेश की राजधानी रायपुर में इस समय पेट्रोल की कीमत 101.88 रुपए प्रति लीटर है। वहीं डीजल 93.86 रुपया प्रति लीटर की दर से बेचा जा रहा है। पड़ोसी राज्यों में उत्तर प्रदेश और झारखंड को छोड़कर सभी राज्यों में पेट्रोल की कीमतें यहां से अधिक हैं। जबकि डीजल के मामले में केवल महाराष्ट्र और आंध्र-तेलंगाना में कीमतें छत्तीसगढ़ से अधिक हैं।

ऐसे में विभाग ने 5 से 7 रुपए तक कटौती का प्रस्ताव दिया है। तर्क है कि इससे कीमतें पड़ोसी राज्यों की न्यूनतम कीमतों के आसपास हो जाएंगी। इसकी वजह से अंतरराज्यीय परिवहन में लगे वाहन छत्तीसगढ़ में अधिक तेल भराएंगे। वहीं सीमावर्ती जिलों के लोग सस्ते तेल की तलाश में पड़ोसी राज्यों में नहीं जाएंगे। इस तरह तेल की खपत बढ़ने से टैक्स कम करने का साइड इफेक्ट कमजोर होगा।

 

 

Related Articles

Back to top button
Close
Close