ChhattisgarhRaipur

छत्तीसगढ़ में जन्माष्टमी पर पहली बार ड्राइ-डे का निर्णय : शराब और मांस की दुकानें रहेंगी बंद, कृष्णाष्टमी में पहली बार जारी हुआ ऐसा आदेश

छत्तीसगढ़ में जन्माष्टमी पर पहली बार ड्राइ-डे का निर्णय : शराब और मांस की दुकानें रहेंगी बंद, कृष्णाष्टमी में पहली बार जारी हुआ ऐसा आदेश

रायपुर : छत्तीसगढ़ में जन्माष्टमी पर ड्राई डे रहेगा। सरकार ने शराब और मांसाहार की दुकानों को पूरी तरह बंद रखने का आदेश जारी किया है। इसकी वजह से सोमवार को शराब की दुकानें पूरी तरह बंद रहेंगी। मांस की बिक्री और मांसाहार की दुकानों को भी बंद रखना होगा।

राष्ट्रीय पर्वों पर जारी होता था ऐसा आदेश

प्रदेश में भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव की तैयारियां धूमधाम से जारी है। विभिन्न मंदिरों में विशेष तौर पर झांकी की तैयारी हो रही है। इस बीच सरकार ने इस पर्व को लेकर बड़ा फैसला किया है। यह पहली बार है, जब जन्माष्टमी पर शराब की बिक्री को रोक दिया गया है। मांसाहार की दुकानों को भी कल बंद रखने का आदेश जारी हुआ है। वरिष्ठ अधिकारियों का कहना है, अभी तक ऐसा आदेश राष्ट्रीय पर्वों और कुछ विशेष मौकों पर ही जारी होता था। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर ऐसा पहली बार हुआ है। बताया जा रहा है कि ऐसा श्रद्धालुओं की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए किया गया है।

जैतूसाठ मठ में 200 साल की परंपरा टूटी थी

वहीं पिछले साल कोरोना के चलते भी इस पर्व पर असर पड़ा था। राजधानी में कई सालों से आयोजित होती आ रहीं दही-हांडी फोड़ प्रतियोगिता का आयोजन नहीं हो सका था। यहां तक की जैतूसाव मठ में 200 साल पुरानी परंपरा टूट गई थी। जैतूसाठ मठ में हर साल श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव पर भव्य आयोजन किए जाते थे। इस बार भी इस तरह से भव्य आयोजन पर संकट के बादल हैं। हालांकि प्रशासन की तरफ से इस तरह के कोई गाइडलाइन जारी नहीं हुई है, पर पता चला है कि कई दही-हांडी फोड़ प्रतियोगिता का आयोजन करने वाले समितियों को प्रतियोगिता का आयोजन करने की अनुमति नहीं दी गई है।

Related Articles

Back to top button
Close
Close