IndiaMumbai

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज राहुल गांधी के आरोपों पर जम कर बरसीं, उन्होंने राहुल से पूछा कि क्या वह संपत्ति जीजाजी की है!!

उन्होंने कहा कि नई दिल्ली की निजीकरण की शुरूआत कांग्रेस नीत यूपीए सरकार ने ही की थी, कहा कि National Monetisation Pipeline के तहत संपत्तियों का स्वामित्व (Sale off) नहीं देगी। उन संपत्तियों को अनिवार्य रूप से सरकार को वापस सौंप दिया जाएगा।

मुंबई: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को नेशनल मोनेटाइजेशन पाइपलाइन (NMP) पर खरी खरी सुनाई है। इस योजना के बारे में राहुल गांधी की आलोचना पर सीतारमण ने कहा है कि एक भी संपत्ति (Asset) बेची नहीं जाएगी। उसे लीज पर दिया जाएगा और फिर उसका स्वामित्व अनिवार्य रूप से वापस लिया जाएगा।

किसने मंगाया था नई दिल्ली रेलवे स्टेशन का आरएफपी

सीतारमण ने बुधवार को मुंबई में संवाददाताओं के साथ बातचीत में कहा कि NMP के तहत संपत्तियों का स्वामित्व नहीं देगी। उन संपत्तियों को अनिवार्य रूप से सरकार को वापस सौंप दिया जाएगा। उन्होंने कांग्रेस की अगुवाई वाले यूपीए सरकार द्वारा शुरू की गई मोनेटाइजेशन प्रोसेस का हवाला देते हुए विपक्ष पर निशाना साधा। उन्होंने नई दिल्ली रेलवे स्टेशन का उदाहरण देते हुए कहा कि इस स्टेशन के लिए आरएफपी (RFQ) किसने मंगाया था? क्या अब यह ‘जीजाजी’ के स्वामित्व में है?? 

उन्होंने कहा, ‘हम कोई संपत्ति बेच नहीं रहे हैं। जो भी संपत्ति लीज पर दी जाएगी, वह हर हाल में वापस लिया जाएगा। उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार द्वारा करीब 6 लाख करोड़ रुपये की राष्ट्रीय मुद्रीकरण पाइपलाइन (NMP) की घोषणा किए जाने के एक दिन बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया कि उनकी पार्टी द्वारा पिछले 70 वर्षों में बनाई गई ‘क्रॉन ज्वेलरी’ संपत्तियां बेचने की प्रक्रिया को लाया गया है।

निजीकरण के विरोधी नहीं

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के साथ पार्टी मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए गांधी ने कहा था कि वह निजीकरण के विरोधी नहीं हैं। लेकिन यहां किसी के एकाधिकार के लिए ऐसा किया जा रहा है। राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री और भाजपा ने कहा है कि कांग्रेस ने पिछले 70 साल में कुछ नहीं किया। कांग्रेस ने जनता के पैसे का इस्तेमाल कर जितनी भी संपत्तियां बनाने में मदद की है, उसकी एक सूची यहां दी गई है।

 

Related Articles

Back to top button
Close
Close