ChhattisgarhGaurella pendra marwahi

*आदिवासी महिला स्व सहायता समूह द्वारा बनाई जा रही धान की राखियां*

*नेक महिला स्व सहायता समूह द्वारा धान की राखी का मंगली बाजार, गांधी चौक के पास किया जा रहा विक्रय*

कमलेश चंद्रा, गौरेला पेंड्रा मरवाही: 19 अगस्त 2021/ इस बार रक्षाबंधन पर भाइयों की कलाई में स्व सहायता समूह की दीदियों द्वारा बनाई गई धान की राखियां सजेगी। गौरेला पेंड्रा मरवाही जिले के गौरेला विकासखंड में नेक महिला स्व सहायता समूह द्वारा रक्षाबंधन त्यौहार के लिए धान की राखी का निर्माण किया गया है। जिसका विक्रय मंगली बाजार, गांधी चौक के पास किया जा रहा है।

गौरेला पेंड्रा मरवाही जिला के गौरेला, पतेराटोला गांव की आदिवासी महिला समूह को हस्तशिल्प बोर्ड की अर्टिस्ट निरजा स्वामी द्वारा धान से बनी राखियां निर्मांण कराकर छत्तीसगढ़ सहित अन्य राज्यों में छत्तीसगढ़ हस्तशिल्प केंद्रों के माध्यम से राखियों का विक्रय किया जा रहा है। आदिवासी महिला समूह की महिलाओं को निरजा स्वामी द्वारा धान से बने गहने और राखियां तथा त्योहारों के अनुसार रक्षाबंधन में राखियां, गणेश भगवान की कलाकृतियों, नवरात्र में माता दुर्गा की कलाकृति, दीपावली में माता लक्ष्मी की सुंदर कलाकृतिया इत्यादि बनायी जाती है। बाकी बचे समय का सदुपयोग कर अन्य प्रकार के धान के गहने बनाकर विक्रय किया जाता है। आदिवासी महिलाओं को प्रेरित करने तथा महिलाओं को स्वालंबी बनाने के उद्देश्य से यह कार्य किया जा रहा है। इस कार्य से स्व सहायता समूह की महिलाएं बहुत ज्यादा उत्साहित है।

Related Articles

Back to top button
Close
Close