India

अफगानिस्तान : तालिबान की मनमानी, भारतीय वाणिज्य दूतावास में घुसे तालिबानी, आतंकी, दिया ISI ने साथ…

तालिबान, भारत के लिए भी बन सकता है खतरा

काबुल: अफगानिस्तान (Afghanistan) पर कब्जा जमा चुका तालिबान (Taliban) धीरे-धीरे असली रंग में आ रहा है. उसके आतंकी अब आम लोगों पर अत्याचार करने के साथ ही विदेशी राजनयिक मिशनों को भी नुकसान पहुंचाने लगे हैं.

अफगानिस्तान (Afghanistan) पर कब्जा जमा चुका तालिबान (Taliban) अब आम लोगों के साथ ही विदेशी राजनयिकों को भी अपने निशाने पर लेने लगा है. उसके आतंकी इंडियन कॉन्सुलेट्स (Indian Consulates) में घुस गए और छानबीन की.

इंडियन कॉन्सुलेट्स में घुसे तालिबानी 

तालिबान (Taliban) के आतंकी बुधवार को कंधार (Kandahar) और हेरात (Herat) प्रांत में खाली किए जा चुके इंडियन कॉन्सुलेट्स (Indian Consulates) में घुसे. उन्होंने वहां पर सरकारी कागजों और कंप्यूटरों की खोज की. इसके बाद वे कॉन्सुलेट्स में खड़ी भारतीय गाड़ियों को अपने साथ ले गए. उन गाड़ियों को अपने साथ ले जाने की सबसे बड़ी वजह ये थी कि उनमें से अधिकतर गाड़ियां बुलेटप्रूफ थीं.

ISI के निर्देश पर की कार्रवाई

सूत्रों का कहना है कि तालिबान (Taliban) ने ये कार्रवाई पाकिस्तान की ISI के निर्देश पर की. दरअसल ISI तालिबान को अपने मोहरे के रूप में इस्तेमाल कर भारतीय हितों को नुकसान पहुंचाना चाहता है. इंडियन कॉन्सुलेट्स में घुसने के साथ ही तालिबानी आतंकियों ने आसपास के घरों में छापेमारी कर अफगानी जवानों के बारे में जानकारी जुटाने की कोशिश की.

देश छोड़ चुके हैं राष्ट्रपति गनी

बताते चलें कि तालिबान (Taliban) आतंकी बीते रविवार को अफगानिस्तान (Afghanistan) की राजधानी काबुल समेत उसके अधिकतर हिस्सों पर कब्जा कर चुके हैं. काबुल पर तालिबान के हमले के साथ ही राष्ट्रपति अशरफ गनी समेत अधिकतर नेता, अफसर और सैनिक कमांडर देश छोड़कर जा चुके हैं. उसके बाद से तालिबानी आतंकी वहां पर अपने नियम कायदे लादने की कोशिश कर रहे हैं.

Related Articles

Back to top button
Close
Close