ChhattisgarhGaurella pendra marwahi

*अंशकालीन स्कूल कर्मचारी कल्याण संघ ने एक दिवसीय धरना देकर मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन*

अनियमित कर्मचारी को नियमित करने की रही मुख्य मांग

गौरेला पेंड्रा मरवाही 27 सितंबर 2021 छत्तीसगढ़ अंशकालीन स्कूल कर्मचारी कल्याण संघ जिला गौरेला पेंड्रा मरवाही के स्कूल सफाई कर्मचारियों ने आज रेनाल्ट स्कूल गौरेला के पास एक दिवसीय धरना देकर अपने संघ की मुख्य मांग अंशकालीन को पूर्ण कालीन करने के लिए राज्य सरकार को विधानसभा चुनाव 2018के चुनावी घोषणा को याद दिलाते हुए, वादा निभाओ रैली निकालकर मुख्यमंत्री शिक्षा मंत्री एवं महामहिम राज्यपाल छत्तीसगढ़ शासन के नाम पर कलेक्टर जिला गौरेला पेंड्रा मरवाही को ज्ञापन सौंपा है।

  

ज्ञापन के माध्यम से उन्होंने सरकार से मांग की है ,छत्तीसगढ़ राज्य के सरकारी स्कूलों में कार्यरत अंशकालीन सफाई कर्मचारी पिछले 10 वर्षों से सरकारी स्कूलों में सेवारत होकर स्कूलों की साफ सफाई स्वच्छता के प्रति कर्तव्य निष्ठ होकर कर रहे हैं ,जिसकी मजदूरी न्यूनतम वेतन से कम मजदूरी दर प्राप्त होता है , महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना से भी कम मजदूरी दर पर मात्र 1 दिन का परिश्रमिक ₹82 हिसाब से लगभग माह में ₹2000 दिया जाता है , जोकि बहुत ही कम है इतने कम मजदूरी से घर परिवार का संचालन करना कठिन हो गया है जबकि महंगाई दिनों दिन बढ़ती जा रही है वर्तमान में ₹9000 पूर्णकालिक मासिक कलेक्टर दर है ,और हम कर्मचारियों को कलेक्टर दर का एक चौथाई भाग दिया जा रहा है, जबकि माननीय उच्च न्यायालय का आदेश है कि समान काम के बदले समान वेतन दिया जाए ।छत्तीसगढ़ राज्य के विधानसभा चुनाव 2018 की घोषणा पत्र में छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वादा वचन पत्र में हमारी मांगों को शामिल किया गया था ,जिसमें अनियमित कर्मचारियों को कांग्रेस की सरकार बनते ही 10 दिवस के भीतर नियमितीकरण करने की घोषणा की गई थी , ,परंतु आज ढाई वर्ष पूर्ण हो गया है ,छत्तीसगढ़ में काग्रेस की सरकार बने ,लेकिन अभी तक हमारे संघ की लंबित मांग को पूरा नहीं किए है ।आगे शासन प्रशासन से मांग करते हुए संघ ने लिखा है कि भृत्य पद की भर्ती पर उन्हें प्राथमिकता दी जाए।

Related Articles

Back to top button
Close
Close